Home Agra कूड़े के ढेर में तबदील हुआ शहर, कागजों में सिमटा स्वच्छता का...

कूड़े के ढेर में तबदील हुआ शहर, कागजों में सिमटा स्वच्छता का अभियान लगे गंदगी के ढेर

कूड़े के ढेर में तबदील हुआ शहर

आगरा :- वैसे तो नगर निगम मेयर से लेकर अधिकारी तक आगरा को स्वच्छता के दावे करते लेकिन जब धरातल पर नजर पड़ती है तो दावों की पोल खुलती ही नजर आती है नगर निगम द्वारा 2 अक्टूबर से 30 जनवरी तक शुरू किए जा रहे स्वच्छता की मुहिम जिसे महापौर नवीन जैन ने कूड़े से आजादी का नारा दिया है को अब महानगर की संस्थाओं की सहभागिता मिलनी शुरू हो गई है

रियल स्टेट उद्योग की जानी-मानी संस्थान आगरा में महा नगर को स्वच्छ बनाने के आंदोलन से जुड़ने की घोषणा होटल पीएल पैलेस संजय प्लेस में आयोजित पोस्टर विमोचन समारोह में की शाखा ने इस अवसर पर सफाई से जीतो प्रतियोगिता के पोस्टर का विमोचन किया इस अवसर पर आगरा के महापौर नवीन जैन व नगर आयुक्त ओमप्रकाश भी उपस्थित रहे मेयर नवीन जैन ने कहा कि आम जनमानस को आगरा को स्वच्छ बनाने में सहयोग देना चाहिए सबसे स्वच्छ मोहल्ले को एक लाख 41 हजार का इनाम दिया जाएगा दूसरे स्थान को 90000 और तीसरे स्थान को ₹65000 का नगद इनाम है

नगर निगम की गाड़ी चालक अगर बिना त्रिपाल खुला कूड़ा ले जाते है तो उसका गाड़ी नंबर फोटो खींचकर डालो लापरवाही बरतने वाले कर्मचारी के साथ सख्त कार्रवाई की जाएगी और शहर में मुख्य मार्गों पर कूड़ा डलाब घर ढकने की बात कहकर क्षेत्रीय डलाब घरों को ढकने की बात आने पर 9 महीने का बहाना बनाकर चुप्पी साध ली जिम्मेदारों की मेहरबानियां के कारण ही स्वच्छता का अभियान कागजों में सिमट कर रह गया है ऐसा ही नजारा रावली क्षेत्र का देखने को मिला जहां नगर निगम जिम्मेदारों की मेहरबानियां के कारण स्वच्छता का अभियान कागजों में ही सिमट कर रह गया वहीं सफाई न होने की वजह से रावली कूड़े से अट गया है।

शहर का कोई ऐसा चौक व चौराहा नहीं होगा। जहां पर गंदगी के ढेर न लगे हों। गंदगी के ढेर लगे होने के कारण लोगों का वहां से निकलना दूभर हो गया है। यहां तक कि लोग वहां से मुंह पर कपड़ा ढांप कर निकलने को मजबूर हैं। नगर निगम के कर्मचारियों के उपेक्षित रवैये के चलते रावली व अन्य अनेकों जगहों पर कूड़े के ढेर लग गए हैं। सफाई कर्मचारियों द्वारा गंदगी के ढेर न उठाने की वजह से हवा के हल्के झोंके से भी गंदगी लोगों के घरों तक जा रही है रावली ढलान नजदीक भोलेनाथ शिव मंदिर सड़क पर बिखरा कूड़ा वहां से गुजरने वाले हर व्यक्ति को अखर रहा है। यहां पर कूड़ा डस्टबिन से निकलकर सड़क पर फैल गया।

आवारा पशुओं के उक्त ढेर में मुंह मारने की वजह से कूड़ा और ज्यादा बिखर रहा है। यह भी नहीं है कि इस बारे में इलाके के लोगों ने जिला प्रशासन को कई बार सूचना दी लेकिन आज तक जिला प्रशासन ने इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया है।

यही स्थिति शहर के रावली के इलाकों की बनी है। इन इलाकों में कई जगहों पर गंदगी के ढेर लगे होने के कारण इलाके के लोगों को नारकीय जीवन जीने पर मजबूर होना पड़ रहा है। रावली मंदिर के इलाकों के साथ शहर के अन्य अंदरुनी इलाकों में कई जगहों पर गंदगी के ढेर लगे हैं। जिनके कारण वहां से निकलना बड़ा मुश्किल हो गया है।

इस बारे में लोगों ने कई बार शिकायत की लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है।
कचरे में डाल रहे हैं गोबर जगह-जगह शहर व बाहरी इलाकों में कचरे के ढेर होने के कारण सूअर और आवारा जानवरों का जमघट लगा रहता है पशुपालक व संचालक पशुओं का गोबर तक डाल रहे हैं। गोबर डालने के बाद कचरे में बदबू आने लगती है।