Home राजनीति शाहनवाज हुसैन का कट गया पत्ता, भागलपुर सीट गयी जेडीयू के खाते...

शाहनवाज हुसैन का कट गया पत्ता, भागलपुर सीट गयी जेडीयू के खाते में

SHARE
शाहनवाज हुसैन का कट गया पत्ता

पटना :- महागठबंधन में जहाँ सीट बंटवारे के लिए सिर-फुटौवल जारी है वहीँ एनडीए ने रविवार को सीट बंटवारे का ऐलान कर महागठबंधन पर मनोवैज्ञानिक बढ़त हासिल कर ली। एनडीए के तीनों घटक दलों ने साझा प्रेस कांफ्रेंस कर के इस बात की घोषणा की कि कौन किस सीट से लडेगा। सीट बंटवारे में भाजपा के दो बड़े नेताओं गिरिराज सिंह और शानावाज सिंह की सीटें सहयोगियों के खाते में गई है। गिरिराज सिंह की नवादा सीट लोजपा के खाते में गई है जबकि शाहनवाज की भागलपुर सीट जेडीयू के हिस्से में। गिरिराज सिंह के बेगूसराय से चुनाव लड़ने की आशंका है जबकि शाहनवाज हुसैन का पत्ता कट गया लगता है।

हालाँकि चर्चाएँ है कि शाहनवाज हुसैन को अररिया सीट से उतारा जा सकता है। अररिया सीट इस वक़्त राजद के खाते में है। सीमांचल की ज्यादातर सीटें जेडीयू के खाते में गई है सिवाय अररिया के। अररिया सीट भाजपा के खाते में आने वाली सीमांचल की एकलौती सीट है।2014 के मोदी लहर में भी शाहनवाज हुसैन भागलपुर सीट से हार गए थे। 2004 के उपचुनाव में शाहनवाज भागलपुर से जीते और 2009 में भी उन्होंने अपनी सीट बरक़रार रखी लेकिन 2014 के चुनाव में महज 8 हज़ार वोटों से हार गए। हार के बाद भी उन्होंने भागलपुर को नहीं छोड़ा और लगातार लोगों के संपर्क में रहे।

भागलपुर सीट जेडीयू के खाते में जाने की कहबर के बाद वहां के भाजपा कार्यकर्ताओं में भारी नाराजगी है। भागलपुर के नौवगछिया अनुमंडल के पार्टी पदाधिकारियों ने सामूहिक इस्तीफे की पेशकश की है। 2014 में 31 सीटों पर लड़ने वाली भाजपा को इस बार 17 सीटों पर लड़ना पड़ा जाहिर सी बात है 14 सीटों पर उम्मीदवारों के टिकट कटने से कार्यकर्ताओं की नाराजगी को थामना आलाकमान के लिए काफी मुश्किल भरा कम हो सकता है। इसके अलावा 5 मौजूदा सांसदों का टिकट भी भाजपा ने काटा है। वाल्मीकि नगर सीट पर भी मौजूदा सांसद सतीश दुबे का टिकट कट गया है। ये सीट जेडीयू के खाते में गई है। इससे नाराज हो कर वाल्मीकिनगर लोकसभा क्षेत्र के 15 मंडल अध्यक्ष समेत डेढ़ दर्जन बीजेपी के पदाधिकारियों ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया